लगातार हो रही बारिश से मोतिहारी की स्थति बदतर

124


मोतिहारी। लगातार हो रही बारिश से शहर के मोहल्लों की स्थिति बद् से बदतर हो गई है। इस जल जमाव ने शहर में जल निकासी की व्यवस्था की एक बार फिर पोल खोलकर रख दी है। बारिश ने शहर का बेड़ा गर्क कर दिया है। शहर की गलियों में जलजमाव से स्थिति विकराल हो गई है। वहीं बापूधाम मोतिहारी स्टेशन का मुख्य द्वार चांदमारी की तरफ जलजमाव के कारण तालाब का दृश्य बना हुआ है। जबकि सदर अस्पताल चारों तरफ पानी घिर गया है। वहीं छतौनी स्थित प्राइवेट बस स्टैंड में भीषण जलजमाव है। इससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नगर परिषद क्षेत्र में पिछले दो दशक के अधिक समय से जल निकासी और साफ-सफाई की समस्या बरकरार है। इस मद में नगर परिषद करोड़ों रुपये खर्च चुकी है, मगर समस्या यथावत है। पूर्व में नप इस समस्या के कारण संसाधनों की कमी का रोना रोकर अपना पल्ला झाड़ लेती है। लेकिन अब संशाधनों की कोई कमी नहीं है। हालात यह है कि शहर के खोदानगर, राजेन्द्र नगर, बेलबनवा मलाहटोली, शांतिपूरी, स्टेशन रोड, जानपुल रोड, सदर अस्पताल, अमलापट्टी गांधीनगर, खुदानगर के अलावा नीचे इलाका में भीषण जल-जमाव है। जल निकासी के लिए नालों की कमी और छोटे नालों को बड़े नालों में नहीं जोड़ने के कारण यह स्थिति पैदा हुई है। शहर की आबादी नगर परिषद के लिए एक चुनौती है। नए-नए मोहल्ले बसते जा रहे हैं। लेकिन नाला निर्माण नहीं हो सका। जहां बना भी है वहां बहाव उल्टा है। यह भी जल जमाव का एक बड़ा कारण है।
नालों की उड़ाही नहीं होने से परेशानी

नगर परिषद प्रशासन द्वारा नालों की उड़ाही का कार्य भी ठीक से नहीं कराया गया है। इसके कारण जगह-जगह जलनिकासी की समस्या है। जबकि, लगातार हो रही बारिश से शहर में भयंकर जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई है। वहीं नप प्रशासन द्वारा अपने स्तर पर बनाए गए नालों ने भी मुश्किलें बढ़ा दी है। मोहल्लों में जलजमाव से लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। अधिकारी अपनी गाड़ी से निकलते हैं। लेकिन मोहल्लों की स्थिति का जायजा तक नहीं लेते कि मोहल्लेवासी किस स्थिति में हैं। वहीं कई इलाकों में सड़क के बीचोबीच नाला अधूरा बनाकर छोड़ दिया गया है, जिससे और परेशानी बढ़ गई है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.