गैस सिलिंडर फटने से पटना में एक ही परिवार के तीन लोगो की मौत

49


गैस सिलेंडर में आग लगने से झुलसे एक ही परिवार के चार लोगों में मां, पिता और बेटी की सोमवार की देर रात पीएमसीएच में इलाज के दौरान मौत हो गयी। मंगलवार को सभी शवों का पोस्टमार्टम करवाया गया। फिर शवों को पुलिस ने परिजनों के हवाले सौंप दिया।

रामकृष्णा नगर थाने के न्यू ब्रह्मपुरा के गोकुलधाम सोसाइटी गली नंबर तीन में बीते 22 सितंबर को दर्दनाक हादसा हुआ था। मृतकों में 50 वर्षीय विनोद सिंह, 45 वर्षीय रश्मि देवी और दंपती की 19 वर्षीय बेटी लवली कुमारी शामिल हैं। वहीं इस हादसे में घायल रिपू की स्थिति अब भी नाजुक बनी हुई है। विनोद सिंह मूल रूप से आरा जिले के बिहिया के बरूना गांव के रहने वाले थे। रामकृष्णा नगर थाना क्षेत्र के न्यू ब्रह्मपुरा के गोकुलधाम सोसाइटी के रमेश सिंह के मकान में पिछले छह माह से वे रह रहे थे।

बच्चों को पढ़ाने पटना आये थे विनोद सिंह
विनोद सिंह अपने गांव बरूना से बच्चों को पढ़ाने पटना आये थे। विनोद के पिता किसान हैं। बच्चे को अच्छे स्कूल में पढ़ाना उनका सपना था। इसी को लेकर वे पूरे परिवार के साथ अपने गांव से पटना आकर रह रहे थे।

अर्थी उठते ही हर किसी की आंखें हुईं नम
मां, बाप और बेटी की अर्थी एकसाथ उठते देख पीएमसीएच पोस्टमार्टम हाउस के सामने खड़े लोग सिहर उठे। मृतक विनोद सिंह के दो बेटे रोहित व बिट्टू अपनी मां, पिता व बहन के शवों से लिपटकर रो रहे थे।

गोकुल धाम सोसाइटी में पसरा है सन्नाटा
विनोद सिंह, उनकी पत्नी रश्मि देवी व पुत्री लवली कुमारी की मौत की सूचना मिलते ही रामकृष्णा नगर थाना क्षेत्र के न्यू ब्रह्मपुरा के गोकुलधाम सोसाइटी में भी मातमी सन्नाटा पसर गया। मोहल्ले के लोग इस हादसे की चर्चा कर रहे थे।

बहन की डोली उठानी थी लेकिन …
रोहित और बिट्टू अपनी एकलौती बहन की डोली उठाने के लिए घर में मां-पिता से रोज चर्चा करते थे। किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था कि एक ही झटके में पूरा परिवार बिखर जायेगा। रोहित और बिट्टु अभी छात्र हैं। जीवन के शुरुआती दौर में ही मां-बाप का साया सिर से उठने के कारण दोनों बदहवास थे। रोहित व बिट्टू कभी मां तो कभी पिता तो कभी बहन के शव में लिपट कर रोते, फिर बेहोश हो जाते। हृदय विदाराक घटना को लेकर परिवारों व परिचितों में पटना से लेकर आरा के बरूना गांव तक मातमी माहौल बना हुआ था।

कोचिंग गये थे दोनों बेटे नहीं तो…
मकान मालिक के पुत्र संपत सिंह ने बताया कि घटना के समय किरायेदार विनोद सिंह के दोनों बेटे रोहित व बिट्टू कोचिंग गये हुये थे। अगर वे घर में रहते तो उनकी जान भी जा सकती थी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.